दलित लड़की के साथ दरिन्दिगी के खिलाफ रोष, यूपी सरकार का पुतला दहन

हाथरस की वीभत्स घटना के खिलाफ हरिद्वार में प्रदर्शन

हरिद्वार (उत्तराखंड), 30 सितम्बर। उत्तर प्रदेश के हाथरस (अलीगढ़) में एक दलित लड़की 19 वर्षीय मनीषा के साथ चार दबंगों द्वारा बलात्कार और शासन-प्रशासन की लापरवाही के कारण हुई मौत के खिलाफ इंकलाबी मज़दूर केंद्र, प्रगतिशील महिला एकता केंद्र, भेल मज़दूर ट्रेड यूनियन हरिद्वार, संयुक्त संघर्षशील ट्रेड यूनियन मोर्चा हरिद्वार व अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं ने बी.एच.ई.एल. सेक्टर 4 के चौराहे पर सभा कर प्रदर्शन किया व उत्तर प्रदेश सरकार का पुतला फूंका।

सभा में प्रगतिशील महिला एकता केंद्र की संयोजिका दीपा ने कहा कि आज देश भर में हर उम्र की महिलाओं व बच्चियों के साथ बलात्कार की घटनाओं का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। यह घटना मौजूदा समाज व्यवस्था के महिला विरोधी होने की पोल खोल दे रही है, इस तरह की रोज बरोज हो रही घटनाओं से उजागर होता है कि मौजूदा पूँजीवादी व्यवस्था महिलाओं व बच्चियों को सामाजिक सुरक्षा देने में नाकाम साबित होती जा रही है।

भेल मज़दूर ट्रेड यूनियन के अध्यक्ष राजकिशोर ने कहा कि हमारे देश के शासक वर्ग महिला सुरक्षा की ढेरों बातें करते नहीं थकते हैं लेकिन महिलाओं व बच्चियों की सुरक्षा का सवाल आज भी अपनी जगह मौजूद है। इस समाज व्यवस्था के द्वारा पैदा किए गए विकृत बलात्कारी मानसिकता के लोग महिलाओं को अपने हवस का शिकार बना ले रहे हैं।

इंक़लाबी मज़दूर केंद्र हरिद्वार के राजू सिंह ने कहा कि देश हो या प्रदेश हर जगह महिला सुरक्षा का सवाल आज हमारे सामने बड़े स्तर पर तना हुआ है। हमारे देश के मुखिया नारे देते है कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ लेकिन यह बातें हम भी जानते हैं और नारे देने वाले भी कि बेटियों की सुरक्षा नारे देने से या इस तरह के प्रचार करने से नहीं होगी। बलात्कारी मानसिकता पैदा करने वाली पूँजीवादी व्यवस्था को खत्म करके ही महिलाओं व बच्चियों की सुरक्षा संभव है।

अन्य वक्तओं ने भी अपनी बातें रखी और कहा कि ऐसी घटनाओं पर सरकार द्वारा तुरंत रोक लगाई जाए और समाज में महिला विरोधी अश्लील फिल्मों, गीतों और ऐसी हर प्रकार की गतिविधियों पर रोक लगाई जाए जो महिलाओं को आपमानित करती है और उपभोग की वस्तु के बतौर समझती है।

प्रदर्शन में अवधेश कुमार, सत्यवीर सिंह, नीशू कुमार, रविंद्र कुमार, अरविंद, दीपा, प्रीति, निशा, पूनम, मालती, सियाराम, अनिल, मनीषा, एससी-एसटी फेडरेशन के अध्यक्ष ऋषि पाल जी, पारितोष, भीम सेन जी  एवं एससी-एसटी एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक कटारिया, मनजीत सिंह, अरुण सिंह, अरुण कुमार एवं फूड्स श्रमिक यूनियन आईटीसी के अध्यक्ष गोविंद सिंह आदि उपस्थित रहे।

भूली-बिसरी ख़बरे