गुजरात अंबुजा के मजदूरों का श्रम भवन पर प्रदर्शन

लेबर इंस्पेक्टर के खिलाफ कार्रवाई की माँग

रुद्रपुर (उत्तराखंड)। गुजरात अंबुजा सितारगंज के मजदूरों का श्रम प्रवर्तन अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई और कथित समझौते पर जबरिया हस्ताक्षर कराने के विरोध में श्रम भवन रुद्रपुर में 31 अगस्त को प्रदर्शन हुआ। प्रदर्शन की सूचना पर पुलिस ने श्रम भवन के मुख्य दरवाजे को बंद करवा दिया और महज 3 प्रतिनिधियों को सहायक श्रम आयुक्त से मिलने की इजाजत दी।

श्रमिकों का आरोप है कि गुजरात अम्बुजा सितारगंज के प्रबंधन ने श्रम प्रवर्तन अधिकारी से सांठगांठ कर गैर कानूनी कथित समझौता पत्र पर श्रमिकों को बंधक बनाकर जबरिया हस्ताक्षर करवाया। इसलिए श्रमिकों ने श्रम प्रवर्तन अधिकारी पर कार्यवाही करने, उनकी व उनके परिजनों की संपत्ति की जाँच करने और उक्त समझौते को रद्द करने की माँग की। आज श्रम भवन पर मज़दूर उपस्थित होकर उनके हस्तक्षर की जाँच की माँग की।

वार्ता के दौरान सहायक श्रमायुक्त उधम सिंह ने इस प्रकरण में नोटिस जारी करने व अन्य कार्यवाही का आश्वासन दिया। मज़दूरों का कहना है कि यदि फिर भी कार्यवाही नहीं होती है तो वे आंदोलन तेज करेंगे। प्रदर्शन में गुजरात अम्बुजा के मजदूरों के साथ बजाज मोटर्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, एलजीबी, इंटरार्क, ऑटो लाइन, इंक़लाबी मज़दूर केंद्र, मज़दूर सहयोग केंद्र आदि के लोग मौजूद थे।

%d bloggers like this: