माइक्रोमैक्स मज़दूरों का श्रम भवन पर प्रदर्शन

न्यायालय के आदेश पर सवेतन कार्यबहाली की माँग हुई बुलंद

रुद्रपुर (उत्तराखंड)। ग़ैरकानूनी छंटनी के ख़िलाफ़ विगत 20 माह से संघर्षरत भगवती (माइक्रोमैक्स) के मज़दूरों ने औद्योगिक न्यायाधिकरण के आदेशानुसार श्रमिकों की सवेतन कार्य बहाली की माँग को लेकर 17 अगस्त को श्रम भवन पर प्रदर्शन कर सहायक श्रम आयुक्त उधम सिंह नगर का घेराव किया।

ज्ञात हो कि माइक्रोमैक्स उत्पाद बनाए वाली भगवती प्रोडक्ट्स लिमिटेड, सिडकुल, पंतनगर के प्रबंधन ने 27 दिसंबर 2018 को 303 श्रमिकों की गैरकानूनी छंटनी कर दी थी। जिसे औद्योगिक न्यायाधिकरण हल्द्वानी ने 2 मार्च 2020 के आदेश द्वारा अवैध घोषित करते हुए समस्त बकाया भुगतान के साथ कार्य बहाली का आदेश पारित किया था।

इस बीच प्रबंधन ने इसके ख़िलाफ़ उच्च न्यायालय, नैनीताल में याचिका दायर की, लेकिन पीठ ने स्थगनादेश (स्टे) देने से इनकार कर दिया और यह भी निर्देश दिया कि श्रमिक औद्योगिक न्यायाधिकरण के आदेश का अनुपालन कराने के लिए स्वतंत्र है।

श्रमिक पक्ष द्वारा अपरोक्त आदेशों के अनुपालन में कार्यबहाली व पुराने वेतन के भुगतान के लिए श्रम विभाग में अपील की गई थी, लेकिन श्रम अधिकारी मामले को लंबित बनाए हुए हैं। इसी से नाराज श्रमिकों ने श्रम भवन रुद्रपुर में प्रदर्शन किया और सहायक श्रम आयुक्त का घेराव किया।

करीब 20 महीने से लगातार संघर्ष के कारण श्रमिकों के समक्ष भुखमरी की स्थिति पैदा हो चुकी है, लेकिन श्रम अधिकारी व शासन-प्रशासन मामले को लटकाते रहे हैं और आज भी वही रुख है।

मज़दूरों का कहना है कि हक़ के लिए उनका संघर्ष जारी। लड़कर अबतक कुछ जीतें हासिल हुई हैं और सवेतन कार्यबहाली तक वे पूरे हौसले से संघर्ष जारी रखेंगे।

आज प्रदर्शन में राहुल सिंह, जितेन्द्र सिंह, मनोज सिंह, लोकेश पाठक, विमल कुमार, मोहित, प्रमोद कुमार, प्रकाश चन्द्र, दीपक सिंह, रवि फूलारा, अजय अधिकारी, नरेंद्र सिंह, संतोष कुमार, दीपक सनवाल, ठाकुर सिंह आदि शामिल थे।

भूली-बिसरी ख़बरे