हरिद्वार व रुद्रपुर फैक्ट्रियों में कोरोना संक्रमण से मज़दूरों में दहशत

हिंदुस्तान यूनिलीवर, हरिद्वार में 20 तो महिंद्रा, लालपुर में एक श्रमिक पॉजिटिव

हरिद्वार/रुद्रपुर (उत्तराखंड)। देश में कोरोना संक्रमण के मामले तेज रफ़्तार से बढ़ रहे हैं, वहीँ सबसे सघन काम के क्षेत्र फैक्ट्रियां खुली हैं और संक्रमण के भी मामले आ रहे हैं। उत्तराखंड के हरिद्वार स्थित हिंदुस्तान यूनिलीवर फैक्ट्री में 20 कोरोना संक्रमित मिले हैं। वहीँ रुद्रपुर के महिंद्रा एंड महिंद्रा में भी एक मज़दूर संक्रमित मिला है। इससे मज़दूरों में भय व्याप्त है।

हिंदुस्तान यूनिलीवर में कोरोना विष्फोट

16 जुलाई को सिडकुल हरिद्वार की बड़ी औद्योगिक इकाई हिंदुस्तान यूनिलीवर के 20 श्रमिक कोरोना पॉजिटिव पाए गये हैं। इतने कर्मियों के एक साथ कोरोना वायरस के मामले आने से हड़कम्प मच गया। इसके बाद फैक्ट्री को सील कर सैनिटाइज किया जा रहा है। इससे आस-पास की फैक्ट्रियों के मज़दूरों में भी दहशत व्याप्त है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने अपने कर्मचारियों का एक प्राइवेट लैब से टेस्ट कराया था। इनमे से 20 लोगों में कोविड 19 की पुष्टि हुई है। इनमें से ज्यादातर कर्मचारी शहर और आसपास के इलाकों में किराये के कमरों में रहते हैं। इसके बाद से संक्रमितों के सम्पर्क में आये लोगों की भी जानकारी ली जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, कंपनी में मिले कोरोना संक्रमितों में हरिद्वार के ज्वालापुर इलाके के जुर्स कंट्री, लोधामंडी, पांडेवाले, सुभाष नगर और कनखल होली मौहल्ले में एक-एक, शिवालिक नगर में 2 कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं। साथ ही हरिआश्रय कॉलोनी के दो, नूरपुर पंजनहेड़ी में एक, जियापोता में 2, आदर्श नगर रुड़की में एक, टिहरी विस्थापित रोशनाबाद में तीन, राज विहार राजा गार्डन में एक, श्यामपुर ऋषिकेश, आनेकी हेतमपुर, त्रिलोक नगर जगजीतपुर में भी एक-एक फैक्ट्री कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं।

महिंद्रा में भी एक पॉजिटिव

उधम सिंह नगर के लालपुर स्थित महिंद्रा एंड महिंद्रा में एक मज़दूर 14 जुलाई को कोरोना संक्रमित पाया गया। ख़बर के मुताबिक शक्ति फॉर्म निवासी अपरेंटिस श्रमिक लगतार बुखार के बावजूद कम्पनी काम कराती रही। मज़दूरों की कई बार शिकायत के बाद उसे छुट्टी देकर उसे घर भेजा गया, जहाँ उसने अपनी पहल पर टेस्ट कराई, जो कोविड 19 पॉजिटिव निकाली।

इसकी सूचना मिलने पर साथ काम करने वाले 6 लोगों को होम आइसोलेशन में भेज दिया गया। हालाँकि कम्पनी द्वारा किसी के भी टेस्ट करने की जानकारी नहीं मिली है।

बढ़ाते मामलों के बीच उत्पादन जारी

यह जाहिर बात है कि कोविड 19 का फैलाव जनसमुदाय के एकत्रित होने से फैलता है। इसके बावजूद सबसे अधिक भीड़ वाली जगहों में से एक कारखानों में हर कीमत पर, बगैर उचित सुरक्षा प्रावधान के उत्पादन जारी है। लॉकडाउन में ढील भी कारखानों के दबाव में हुआ है।

हालत ये हैं कि देश के अन्य हिस्सों के साथ कारखानों में भी कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ज्यादातर मामले छिपा दिए जा रहे हैं। इसके बावजूद जो मामले सामने आ रहे हैं, वे ही भयानकता को उजागर करने के लिए काफी हैं। डाइकिन नीमराना हो, बजाज औरंगाबाद हो, कैडिला अहमदाबाद हो, नॉएडा, गाजियाबाद, गुडगाँव हो या हिंदुस्तान यूनिलीवर या महिंद्रा

  • इसे भी पढ़ें

यह गौरतलब है कि बजाज बाइक में 250 से ज्यादा संक्रमित मामले आने और 4 मज़दूरों की मौत के बाद जब यूनियन ने अस्थाई रूप से प्लांट बंद करने की माँग उठाई तो प्रबंधन ने कहा की हम श्रमिकों को कोरोना के साथ जीने की आदत डालना चाहते हैं

हालत ये हैं कि इलाकाई आधार पर लॉकडाउन के बावजूद कारखानों में पूरी संख्या से कार्य जारी है और मज़दूरों में लगातार भय का माहौल व्याप्त है। 

16 जुलाई को उत्तराखंड में 199 संक्रमित

उत्तराखंड में 16 जुलाई को कोरोनावायरस के 199 नए मामले सामने आए हैं। सबसे ज्यादा मामले 91 उधम सिंह नगर में उसके बाद 34 मामले नैनीताल जिले में, 25 मामले देहरादून जिले में, 30 मामले हरिद्वार में, 10 मामले टिहरी गढ़वाल, तीन मामले चमोली और एक मामला चंपावत से सामने आया है। इनमे उधम सिंह नगर और हरिद्वार सबसे सघन औद्योगिक इलाका है।

  • इसे भी पढ़ें

भूली-बिसरी ख़बरे