आसाम: जेल में बंद किसान नेता अखिल गोगोई और दो साथी कोरोना पॉज़िटिव, स्वास्थ्य बिगड़ा

असम के गोवाहाटी जेल में बंद कृषक मुक्ति संग्राम समिति (केएसएमएस) के प्रमुख और किसान नेता अखिल गोगोई और उनके दो साथी बिट्टू सोनोवाल और धरज्या कोंवर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव अाई है।

सीएए विरोधी आंदोलन में सक्रिय भागीदारी के आरोप में गिरफ्तार किए गए और 200 दिन से ज्यादा समय से जेल में बंद आसाम के लड़ाकू किसान नेता, आरटीआई कार्यकर्ता और जन आंदोलनकारी अखिल गोगोई, छात्र एक्टिविस्ट बिट्टू सोनोवाल और धरज्या कोंवर की का स्वास्थ्य पिछले काफी दिनों से लगातार ख़राब होता जा रहा है।

अखिल गोगोई को 12 दिसंबर 2019 को आसाम के जोरहाट से एनआईए ने गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद अखिल गोगोई को एनआईए द्वारा दिल्ली सहित अलग-अलग स्थानों पर रखा गया और उसके बाद 23 अप्रैल को अखिल गोगोई को गुवाहाटी सेंट्रल जेल में ट्रांसफर कर दिया गया।

6 जुलाई को ही अखिल गोगोई की पत्नी ने प्रेस वार्ता जारी कर जेल में बंद बिगड़ते हुए स्वास्थ्य को लेकर चिंता जताई थी और उनके कोरोना पॉजिटिव होने की भी आशंका जताई थी। सरकार और जेल प्रशासन से बार-बार अनुरोध करने के बावजूद भी अखिल गोगोई और उनके साथियों के स्वास्थ्य पर कोई ध्यान नहीं दिया गया।

अखिल गोगोई और उनके साथियों को नेशनल सिक्योरिटी एक्ट (एनएसए) के तहत गिरफ्तार किया गया है और उन पर अनलॉफुल एक्टिविटीज प्रीवेंशन एक्ट के तहत आरोप लगाए गए हैं। सिटीजनशिप अमेंडमेंट एक्ट बिल के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शनों में असम में अखिल गोगोई ने सक्रिय भूमिका निभाई थी।

गुवाहाटी सेंट्रल जेल में बंद अखिल गोगोई और उनके साथियों की की रिहाई सहित आठ अन्य मांगों को लेकर गरीब पारस और कैदियों ने 25 और 26 जून को भूख हड़ताल भी की थी। इनकी प्रमुख मांगे थी जेल में बाहर से आए कैदियों को 14 दिन क्वारांटाइन करने के बाद ही सेल में पुराने कैदियों के साथ बंद किया जाए और सभी कैदियों को आवश्यक जेल मैनुअल के अनुसार आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए। इस दौरान अखिल गोगोई और उनके साथी भी भूख हड़ताल पर थे।

भूली-बिसरी ख़बरे