ठेकों पर सुबह 4 बजे से लाइन, टोकन सिस्टम भी, पर सिस्टम फेल

खरीददार बोले- 70% टैक्स का दुख नहीं, ये देश को हमारा दान है

दिल्ली सरकार द्वारा शराब बिक्री पर 70 फीसदी टैक्स लगाए जाने पर शख्स ने कहा, ‘टैक्स बढ़ने पर किसी को कोई दुख नहीं है। ये देश के लिए हमारी तरफ से एक तरह का दान है। एक बड़ी मुसीबत के समय में ये हमारे सरकार के लिए साथ है। मगर व्यवस्था को बनाएगा कौन? पूरी दिल्ली में और भारत में व्यवस्था कौन बनाएगा?’

ठेकों पर सुबह 4 बजे से लाइन, टोकन सिस्टम भी, पर सिस्टम फेल; खरीददार बोले- 70% टैक्स का दुख नहीं, ये देश को हमारा दान हैठेकों पर सुबह 4 बजे से लाइन, टोकन सिस्टम भी, पर सिस्टम फेल; खरीददार बोले- 70% टैक्स का दुख नहीं, ये देश को हमारा दान हैलोगों ने शराब की दुकानों के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग की खराब व्यवस्था को लेकर पुलिस प्रशासन पर निशाना साधा। (वीडियो स्क्रीन शॉट)

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मंगलवार (5 मई, 2020) से शराब की बिक्री पर 70 फीसदी ‘स्पेशल कोरोना टैक्स’ लगाने के बाद भी आज बड़ी तादाद में लोग दुकानों पर उमड़े। हालांकि लोगों ने शराब की दुकानों के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग की खराब व्यवस्था को लेकर पुलिस प्रशासन पर निशाना साधा। लक्ष्मी नगर में शराब की दुकान के बाहर खड़े ऐसे ही एक शख्स ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, ‘सुबह छह बजे से लाइन में लगे हैं। मेरे कुछ दोस्त सुबह चार बजे से भी लाइन में आकर लगे हैं। टोकन नंबर दिया गया है। यह व्यवस्था भी यहां मौजूद लोगों ने खुद की है।’

शख्स ने आगे कहा, ‘पूरी व्यवस्थान फेल होने का कारण है कि पुलिस यहां एक्टिव नहीं है। सुबह नौ बजे से ठेका खुलने का समय है मगर नौ बजने में जब पांच मिनट रहे गए थे, तब पुलिस यहां पर आई। ऐसे दिल्ली में पब्लिक को व्यवस्थित कौन करेगा? लोगों कौन समझाएगा? कौन लोगों को बताएगा कि किस तरह खड़ा होना है? क्या ये पुलिस की जिम्मेदारी नहीं है? क्या ये शराब दुकनदारों की ड्यूटी नहीं है? दूसरों पर आरोप लगाया जा रहा है कि पब्लिक नियमों का पालन नहीं कर रही, मगर पब्लिक को बताएगा कौन? पब्लिक को समझाएगा कौन?’

पूछने पर शख्स ने कहा कि वो अपने आप बाद में आने वालों को नंबर दे रहे हैं, ताकि व्यवस्था खराब ना हो। सुबह छह बजे से पहले लोग आपस में नंबर लिख रहे हैं। मगर दुकान खुलने पर अगर भीड़ अचानक बढ़ गई तो इसका व्यवस्थित कौन करेगा? शराब की दुकानों के बाहर झगड़ा हो गया तो इसके जिम्मेदार कौन होगा?दिल्ली सरकार द्वारा शराब बिक्री पर 70 फीसदी टैक्स लगाए जाने पर शख्स ने कहा, ‘टैक्स बढ़ने पर किसी को कोई दुख नहीं है। ये देश के लिए हमारी तरफ से एक तरह का दान है। एक बड़ी मुसीबत के समय में ये हमारे सरकार के लिए साथ है। मगर व्यवस्था को बनाएगा कौन? पूरी दिल्ली में और भारत में व्यवस्था कौन बनाएगा?’

बता दें कि मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,568 हो गई और संक्रमित मामलों की तादाद 46,433 पहुंच गई है। मंत्रालय ने बताया कि संक्रमण से 12,726 मरीज ठीक हो गए हैं और एक रोगी देश से बाहर जा चुका है।वहीं कोविड-19 से संक्रमित 32,138 मरीजों का अब भी इलाज चल रहा है। कुल मामलों में 111 विदेश नागरिक शामिल हैं। दिल्ली में कोरोना से 64 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि संक्रमितों की संख्या 4,898 तक जा पहुची हैं। आंकड़े आज सुबह नौ बजे तक के हैं।

जनसत्ता से साभार  

भूली-बिसरी ख़बरे