यूपी: राशन की लाइन में 35 साल की मह‍िला की मौत

हार्ट अटैक है मौत का कराड़  

लॉकडाउन के बीच देशभर में लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कहीं लोग भूख से परेशान हैं तो कहीं लोग इलाज के अभाव में भटक रहे हैं। राशन का राहत पाने के लिए कई राज्यों में लोग लंबी-लंबी कतारों में खड़े दिख रहे हैं। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में भी राशन की लंबी कतार में लोग खड़े दिखे। इस दौरान लाइन में खड़ी एक महिला की हार्ट अटैक से मौत हो गई। शुक्रवार (17 अप्रैल) को 35 वर्षीय महिला राशन की लाइन में खड़े-खड़े बेहोश हो गई। बाद में उसकी मौत हो गई। जिला प्रशासन के मुताबिक महिला की मौक हार्ट अटैक से हुई है।

प्रशासन के मुताबिक महिला के घर में पर्याप्त राशन था और वह हाइपरटेंशन की मरीज थी। इस मामले में कोई केस दर्ज नहीं किया गया है। महिला की पहचान शमीमा बेगम के रूप में हुई है जो बदायूं जिले के कुंवर गांव थाना क्षेत्र के मोइनद्दीन नगर की निवासी थी। जिलाधिकारी कुमार प्रशांत को जैसे ही मामले की जानकारी हुई, उन्होंने जिला आपूर्ति पदाधिकारी रमेंद्र प्रताप सिंह की अगुवाई में एक टीम तुरंत मामले की जांच करने को भेजा।

प्रारंभिक जांच रिपोर्ट में बताया गया है कि शमीमा बेगम अपने दो पड़ोसियों के साथ निकट के पेहलादपुर गांव में फेयर प्राइस दुकान से मुफ्त चावल पाने के लिए गई थीं। जांच टीम के अगुवा रमेंद्र प्रताप सिंह ने कहा, “हमने फेयर प्राइस दुकान के मालिक और मृतक के पड़ोसियों का बयान रिकॉर्ड कर लिया है, जो उनके साथ ही लाइन में खड़े थे। उनलोगों ने बताया कि लाइन में 10 मिनट खड़ी होने के बाद ही शमीमा अचानक बेहोश हो गई। लोगों ने ने उसे नजदीक के अस्पताल में पहुंचाया लेकिन डॉक्चरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।”

बेगम का परिवार में पति मोहम्मद हनीफ, जो बिजनौर में काम करते हैं, के अलावा दो बच्चे हैं। मोहम्मद हसन बेटा है जिसकी उम्र अभी नौ साल है जबकि छह साल की एक बेटी रानी भी है। शमीमा का सास शाहजहां बेगम (68) भी उनके साथ ही रहती थी।

जनसत्ता से साभार

भूली-बिसरी ख़बरे