ऐप्पल ने बैग की तलाशी में नष्ट हुए समय के लिए कर्मचारियों को भुगतान करने का आदेश दिया

FILE - In this June 15, 2019, file photo customers leave an Apple store on the 3rd Street Promenade in Santa Monica, Calif. Employees at Apple stores must be paid for time they spend waiting for managers or security guards to search their bags to make sure they're not stealing anything, the California Supreme Court ruled Thursday, Feb. 13, 2020. (AP Photo/Richard Vogel, File)

कैलिफोर्निया की सुप्रीम कोर्ट ने मोबाइल फोन निर्माता एप्पल को कर्मचारियों को काम से छुट्टी के समय अनिवार्य जांच प्रक्रिया, आईफोन और बैग की तलाशी से गुजरने के लिए इंतजार करने में लगने वाले समय के लिए जुर्माना देने को कहा है। राज्य के सर्वोच्च न्यायालय ने इसे श्रम कानूनों का उल्लंघन माना है।

यह लड़ाई छह साल पहले शुरू हुई थी, जब एप्पल स्टोर के कर्मचारियों ने कंपनी पर यह कहते हुए मुकदमा दायर किया था कि जांच से गुजरने से पहले उन्हें ड्यूटी ऑफ करना आवश्यक होता था। श्रमिकों को लगा कि छुट्टी के बाद भी वे 5 से 20 मिनट की इस प्रक्रिया के दौरान एप्पल के नियंत्रण में हैं और इसलिए उन्हें मुआवजा दिया जाना चाहिए। एप्पल ने बदले में तर्क दिया कि कर्मचारी अपने बैग या आईफ़ोन नहीं लाने का विकल्प चुन सकते हैं, इस प्रकार वो जांच से बच सकते हैं।

इस संबंध में ऐप्पल ने जिला अदालत में केस जीत लिया था, लेकिन मामला अपील पर कैलिफोर्निया की सुप्रीम कोर्ट में चला गया। वहां, न्यायाधीशों ने फैसला सुनाया कि एप्पल के श्रमिक “स्पष्ट रूप से प्रतीक्षा करते समय और बाहर निकलने के दौरान जांच के समय एप्पल के नियंत्रण में थे।”

अदालत ने एप्पल के तर्क को खारिज कर दिया कि काम करने के लिए एक बैग लाना एक कर्मचारी सुविधा है जिसकी कटौती नहीं होनी चाहिए। यह विशेष रूप से इस तथ्य पर केंद्रित था कि एप्पल को लगा कि कर्मचारियों को काम करने के लिए अपने आईफोन को लाने की आवश्यकता नहीं है।

न्यायाधीशों ने लिखा, “एप्पल के तर्क की विडंबना और असंगति पर ध्यान दिया जाना चाहिए।” एक तरफ तो एप्पल अपने स्वयं के कर्मचारियों के लिए आईफोन का इस्तेमाल करना जरूरी नहीं है का तर्क देती है और वहीं दूसरी तरफ बाजार में अपने मोबाइल को यह कह कर बेचती है कि यह सभी के जीवन का ‘एकीकृत और अभिन्न’ भाग है।” ( अदालत ने 2017 में टिम कुक के एक साक्षात्कार का उल्लेख किया जहां उन्होंने कहा कि आईफोन “हमारे जीवन के लिए इतना एकीकृत और अभिन्न हिस्सा है कि आप इसके बिना घर छोड़ने के बारे में नहीं सोचेंगे।”)

अदालत ने फैसला सुनाया कि प्रत्येक कर्मचारी को उसके समय के नुक़सान की भरपाई के लिए 25 जुलाई, 2009 की अवधि से वापस भुगतान किया जाना चाहिए। समाचार एजेंसी ब्लूमबर्ग के अनुसार यह निर्णय 12,400 से अधिक श्रमिकों पर लागू हो सकता है। मामला अब नौवें सर्किट अपील अदालत में है, ताकि यह फैसला लागू किया जा सके और मुआवजे की राशि तय की जा सके। इस अदालत ने जूता और खेल सामग्री निर्माता कन्वर्सिज और नाइके के कर्मचारियों के भी इसी तरह के दावों की सुनवाई करने पर सहमति व्यक्त की है।

%d bloggers like this: