गुजरात: ट्रंप की यात्रा से पहले झुग्गियां ढंकने के लिए दीवार

गरीबी नहीं हटाएंगे, गरीबों को ही हटा देंगे

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी पत्नी मेलानिया के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के न्यौते पर दो दिन के दौरे पर भारत आने वाले हैं। वह और प्रधानमंत्री मोदी 24 फरवरी को गुजरात के अहमदाबाद पहुंचेंगे। यहां दोनों नेता रोड शो करेंगे।

ऐसे में अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को इंदिरा ब्रिज से जोड़ने वाली सड़क के साथ एक दीवार बना रहा है ताकि झुग्गी बस्तियों वाले क्षेत्र को छुपाया जा सके। नागरिक निकाय जिस दीवार निर्माण कर रहा है वह आधे किलोमीटर से ज्यादा लंबी और छह से सात फीट ऊंची है। इसे अहमदाबाद हवाई अड्डे से गांधीनगर की ओर जाने वाली सड़क पर सौंदर्यीकरण अभियान के तहत मोटेरा में सरदार पटेल स्टेडियम के आस-पास बनाया जा रहा है।

एएमसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘अनुमानित 600 मीटर की दूरी पर झुग्गी बस्तियों को छुपाने के लिए 6-7 फीट ऊंची दीवार बनाई जा रही है। यहां पर पौधारोपण अभियान भी चलाया जाएगा।’ 500 से ज्यादा कच्चे मकानो में रहने वाली 2500 की आबादी दशको पुराने देव सरन या सरनियावास झुग्गी बस्तियों के क्षेत्र का हिस्सा हैं।

एएमसी साबरमती नदी के किनारे पर सौंदर्यीकरण के तहत खजूर के पेड़ लगाएगी। इससे पहले ऐसे ही सौंदर्यीकरण का काम तब किया गया था जब जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे अपनी पत्नी अकी आबे के साथ दो दिन के गुजरात दौरे पर 2017 में 12वें भारत-जापान वार्षिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने आए थे।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को एक वीडियो शेयर किया है जिसमें वह पत्रकारों से यह कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे कहा है कि हवाई अड्डे से नए स्टेडियम (मोटेरा) तक 5 से 7 मिलियन लोग वहां मौजूद होंगे। जो लगभग पूरे अहमदाबाद शहर की जनसंख्या है।

गणतंत्र दिवस पर नहीं आ पाए थे डोनाल्ड ट्रंप

भारत ने पिछले साल गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होने के लिए ट्रंप को आमंत्रित किया था लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति व्यस्त होने के कारण समारोह में नहीं आ पाए थे। ट्रंप से पहले उनके पूर्ववर्ती अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा भी दो बार 2010 और 2015 में भारत दौरे पर आए थे। 2015 में ओबामा गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बनकर आए थे। उस दौरान भारत-अमेरिका के बीच कई अहम कारोबारी समझौते हुए थे।

%d bloggers like this: