जेएनयू : सुनियोजित हमले के ख़िलाफ़ विभिन्न प्रदर्शन

हरियाणा के कुरुक्षेत्र, गुडगाँव, फरीदाबाद में संयुक्त विरोध प्रदर्शनों में जताया आक्रोश

जेएनयू में नकाबपोश हथियारों से लैस गुंडों द्वारा कैम्पस में घुस कर छात्रों व शिक्षकों पर सुनियोजित तरीके से कातिलाना हमले का देश के विभिन्न हिस्सों में कड़ा प्रतिवाद और इस फ़ासिस्ट हमले के खिलाफ जेएनयू छात्रों-शिक्षकों के साथ अपनी एकजुटता जाहिर करने का क्रम जारी है। इसी क्रम में हरियाणा के कुरुक्षेत्र, गुडगाँव, फरीदाबाद में अलग-अलग संयुक्त विरोध प्रदर्शनों में जताया आक्रोश जताया गया और तत्काल कार्रवाई की माँग बुलंद हुई।

गुडगाँव में मज़दूरों ने राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

गुडगाँव। बीते 5 जनवरी को जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में एबिविपी की खुली गुंडई, खुलेआम तांडव व कातिलाना हमले के ख़िलाफ़ गुडगाँव के मिनी सचिवालय पर विभिन्न मज़दूर संगठनों ने प्रदर्शन किया और राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया। ज्ञापन के माध्यम से हमलावर गुंडों व दिल्ली पुलिस अधिकारिओ पर सख्त कार्रवाई करने, छात्रों-शिक्षकों को सुरक्षा मुहय्या करने और फीस बृद्धि तत्काल वापस करने की माँग की गई।

वक्ताओं ने कहा कि जेएनयू में सरेआम गुंडागर्दी चलती रही, छात्रों व शिक्षकों को गुंडों द्वारा पीटा जा रहा, तांडव मचाया जाता रहा, लेकिन दिल्ली पुलिस व जेएनयू प्रशासन चुपचाप गुंडों को रोकने की बजाय शर्मनाक रूप से मूकदर्शक बने रहे, नकाबपोशों की गुंडागर्दी की मौन स्वीकृति दी जाती रही और अपराधियो को वापस जाने की खुली छूट दी गई।

इस संयुक्त विरोध प्रदर्शन मे इंकलाबी मजदूर केन्द्र, मज़दूर सहयोग केंद्र, बेलशोनिका यूनियन, सीटू, एआइटीयूसी, एआइयूटीयूसी, स्वराज अभियान, शिवम मज़दूर यूनियन आदि संगठनो के पतिनिधि शामिल थे।

कुरुक्षेत्र में एबीवीपी की गुंडई के बीच प्रदर्शन

कुरुक्षेत्र। 6 जनवरी को जन संघर्ष मंच हरियाणा ने जेएनयू में छात्र व शिक्षकों पर हुए हमले के विरोध में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के थर्ड गेट पर संयुक्त छात्र संघर्ष समिति के आह्वान पर आयोजित विरोध प्रदर्शन में जन संघर्ष मंच, हरियाणा के कार्यकर्ताओं ने भी भाग लिया।

प्रदर्शन शांतिपूर्ण चल रहा था तभी कुछ एबीवीपी के लोग प्रदर्शन में आकर गुंडागर्दी दिखाने लगे। पुलिस की उपस्थिति में एबीवीपी के लोगों ने विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों के हाथों से पट्टिकाएँ छीनने और प्रदर्शन कारी छात्रों के हाथ में लिया पुतला छीनकर उसे तोड़ने की गुंडागर्दी पूर्ण कार्रवाई की। प्रदर्शन कारी छात्रों ने एबीवीपी की गुंडागर्दी का जोरदार विरोध किया। जन संघर्ष मंच हरियाणा एबीवीपी द्वारा कुरुक्षेत्र में किये जा रहे विरोध प्रदर्शन में गुंडागर्दी फैलाने की घटना का कड़ा प्रतिवाद किया है।

प्रदर्शन में मंच की महासचिव सुदेश कुमारी, सचिव सोमनाथ, जिला सचिव चंद्र रेखा, ईश्वर, पिरथी,सतीश, अमन,कोमल, हरजिंदर कौर, संतोष, मीना, एसओएसडी संयोजिका कविता विद्रोही, नेहा, पूजा, रवि, सुनील, कर्मजोत कौर, प्रगतिशील युवा मंच के नेता प्रवीण आदि ने भाग लिया।  

जन संघर्ष मंच हरियाणा ने माँग की कि माननीय सुप्रीम कोर्ट स्वत: संज्ञान लेकर जेएनयू में छात्र-शिक्षकों पर एबीवीपी के गुंडों द्वारा किये गए हमले की घटना की उच्च स्तरीय जांच करवाए, दोषी अपराधियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाए, हमलावरों को यूनिवर्सिटी कैंपस में प्रवेश करने देने और छात्र व शिक्षकों पर कातिलाना हमला करने के समय मूक समर्थन देने वाले जेएनयू प्रशासन व दिल्ली पुलिस के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। जेएनयू वीसी को बर्खास्त किया जाए। गृहमंत्री अमित शाह इस्तीफा दें।

फरीदाबाद में मज़दूरों-संगठनों का विरोध प्रदर्शन

फरीदाबाद। जेएनयू परिसर में हुए हमलो के खिलाफ मज़दूर व राजनीतिक संगठनो ने डी०सी० ऑफिस पर जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियो ने हमले की कठोर शब्दो में निंदा किया तथा इस भयावक कुकृत्य के लिए एबीवीपी व दिल्ली पुलिस को जिम्मेदार बताते हुए आलोचना किया।

प्रदर्शन में सीपीएम, सीपीआइ, इंकलाबी मजदूर केंद्र ,वीनस यूनियन वर्कर्स और परिवर्तनकामी छात्र संगठन ने भागीदारी किया।

भूली-बिसरी ख़बरे