70 रुपये में बनने वाली सीमेंट की एक बोरी 370 रुपये में क्यों,

हवा पानी हो रहा है खराब , कम्पनियाँ लूट रही है मुनाफा

सीमेंट कंपनियां सरकार से रियायतें पाकर देश के लोगों को लूटने का काम कर रही हैं। सीमेंट कंपनी में एक बैग 60 से 70 रुपये में तैयार होता है, जबकि लोगों को मार्किट में 360 से 370 रुपये का मिल रहा है। सरकार महंगे सीमेंट से जनता को छुटकारा दिलाने की बजाए मूकदर्शक बनी हुई है। देश के युवाओं को इन सीमेंट कंपनियों में रोजगार भी ड्राइवर और लोडिंग और अनलोडिंग का ही मिलता है। और वेतन भी इतना कम होता है की घर चलना मुश्किल है , हिमाचल तथा अन्य जगहों पर सीमेंट प्लांट लगने के लिए सैकड़ो एकड़ जंगल कटा जाता है जिससे प्रकृति व पर्यावरण को भी भारी नुकसान होता है। सीमेंट कंपनियां उद्योग के आसपास के क्षेत्र में बड़े पैमाने पर अवैध खनन करती हैं। इससे प्राकृतिक संपदा का दोहन होता है। उद्योग के आसपास का पूरा एरिया प्रदूषण की चपेट में आ जाता है। हवा और मिट्टी में ट्राई कैल्शियम सिलिकेट (3CaO · SiO2), डाइ कैल्शियम सिलिकेट (2CaO · SiO2), ट्राई कैल्शियम अलुमिनाते (3CaO · Al2O3), और A टेट्रा -कैल्शियम अलुमिनोफेरृते (4CaO · Al2O3Fe2O3). नन्हे कण मिलकर प्रदूषण करते है कि प्लांट के आसपास स्थित क्षेत्र के लोगों का सांस लेना मुश्किल होता है। जिस कारण विभिन प्रकार की बीमारी हो रही है /
इन सब से बाद भी वह के स्थानीय लोगो ना ही घर चलने लायक वेतन मिल पता है नहीं सस्ता सीमेंट/

सीमेंट के कहां कितने दाम
दिल्ली में एसीसी सीमेंट की बोरी 230 रुपये, हरियाणा में 255, पंजाब में 285 व हिमाचल में 370 रुपये मिल रही है।
अंबुजा सीमेंट की बोरी दिल्ली में 225, पंजाब में 250, हरियाणा में 245 व हिमाचल में 365 रुपये है।
अल्ट्राटेक सीमेंट की बोरी हिमाचल में 360, पंजाब में 275, हरियाणा में 240 और दिल्ली में 200 रुपये की है।

%d bloggers like this: