जेएनयू के छात्रों पर दिल्ली पुलिस द्वारा लाठीचार्ज, राष्ट्रपति भवन जाने से रोका

फीस वृद्धि के ख़िलाफ़ आज जेएनयू से राष्ट्रपति भवन तक रैली निकाल रहे जेएनयू के विद्यार्थियों पर दिल्ली पुलिस ने एकबार फ़िर भीकाजी कामा पैलेस के पास भयानक लाठीचार्ज किया और छात्रों को आगे जाने से रोक दिया।

छात्रों को रोकने के भारी मात्रा में पुलिस तैनात थी और यूनिवर्सिटी गेट से 600 मीटर की दूरी पर बाबा गंगानाथ मार्ग पर पुलिस ने छात्रों को रोक दिया। छात्रों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए पहले से बेरिकेड लगाए गए थे। छात्रों के बेरिकेड तोड़कर आगे बढ़ने की कोशिश करने पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया।

छात्रों को खदेड़ कर मारा गया और पुलिस ने कई छात्रों को गिरफ्तार भी कर लिया है। छात्रों को निजी वाहनों में डालकर अज्ञात स्थानों पर ले जाया गया है। कई छात्र गायब हैं। कई लोगों को गंभीर चोटें आई हैं जिन्हें इलाज़ के लिए उनके साथी अस्पताल लेकर पहुंचे।

गौरतलब हो कि 18 नवंबर को भी संसद मार्ग तक रैली निकाल रहे जेएनयू के विद्यार्थियों पर दिल्ली पुलिस ने भीषण लाठीचार्ज किया था जिसमें कई छात्र और छात्राओं को गंभीर चोट आयी थीं। मगर दिल्ली पुलिस ने इससे इंकार किया था।

जेएनयू के छात्र फ़ीस वृद्धि के ख़िलाफ़ पिछले एक महीने से संघर्षरत हैं और फिलहाल इस मामले में राष्ट्रपति के हस्तक्षेप की मांग कर रहे थे। जेएनयू के छात्रों ने फ़ीस वृद्धि के विरोध में इस महीने 12 दिसंबर से शुरू हो रहे सेमेस्टर एग्जाम के बहिष्कार की घोषणा की है और जेएनयू शिक्षक संघ भी जेएनयू की विद्यार्थियों की मांग का समर्थन कर रहा है।

जेएनयू प्रशासन छात्रों से बात करने को तैयार नहीं है। मानव संसाधन मंत्रालय ने जेएनयू छात्रों और प्रशासन के बीच गतिरोध के मद्देनजर एक तीन सदस्यीय समिति बनाई थी जिसने सरकार को रिपोर्ट सौंप दी है मगर रिपोर्ट अभी तक बाहर नहीं आयी है।

%d bloggers like this: