549 सफ़ाई कर्मचारियों के पद के लिए 7000 इंजीनियरों ने आवेदन किया

कोयंबटूर में नगर निगम ने 549 सफाई कर्मचारियों की भर्ती के लिए एक आवेदन निकाला। जिसके लिए 7000 इंजीनियरों डिप्लोमा धारकों और स्नातकों ने आवेदन किया है।

यह सफाई कर्मचारी ग्रेड-1 के लिए भर्ती थी जिसके लिए तीन दिवसीय साक्षात्कार और दस्तावेज़ सत्यापन के लिए 7000 इंजीनियरों ने आवेदन किया है। करीब 70% आवेदक स्नातक, परास्नातक और डिप्लोमा किए हुए थे।

आवेदन करने वाले अधिकांश अभ्यार्थियों का कहना है की उन्हें उनकी योग्यता के अनुसार नौकरी नहीं मिली थी वे 6-7000 में काम कर रहे थे। 12 घंटे भी काम करना पड़ता पड़ता है और नौकरी भी सुरक्षित नहीं है।

अगर आंकड़ों की बात करें तो देश में पिछले 45 सालों में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है। आर्थिक मंदी के दौर में ऑटोमोबाइल से लेकर आईटी क्षेत्र तक सभी में लगातार नौकरियां जा रही है और सरकारी उपक्रमों का लगातार निजीकरण हो रहा है। वैसे भी मोदी सरकार पकौड़ा रोजगार योजना लागू कर चुकी है और वित्त मंत्री आर्थिक मंदी की बात को नकार चुकी हैं। इस बीच आर्थिक विकास दर मात्र 4.5% रह गई है। वैसे 8% होने के बाद भी इस देश में युवाओं को योग्यता के अनुसार रोजगार देना किसी भी सरकार के एजेंडे में नहीं है।ऐसे में इस तरह की घटनाएं सरकार के लिए कोई चिंता का विषय नहीं है। फिलहाल सरकार अपना सारा ध्यान देश को 5 ट्रिलियन वाली अर्थव्यवस्था बनाने पर केंद्रित कर रही है ऐसा सरकारी सूत्रों का कहना है।

%d bloggers like this: