टाटा मोटर्स पंतनगर में 15600 का वेतन समझौता

तीन साल के समझौते में वेतन व अवकाश बृद्धि के साथ स्थाई व अस्थाई मृतक श्रमिकों के लिए सहायता राशि योजना का भी लाभ मिलेगा!

पंतनगर (उत्तराखंड)। टाटा मोटर्स लिमिटेड, पंतनगर में यूनियन के माँग पत्र पर प्रबंधन औऱ यूनियन के बीच तीन वर्ष के लिए औसतन 15,600 रुपए का वेतन समझौता हुआ है। कई दौर की वार्ताओं के बाद हुए समझौते के तहत अवकाश, बीमा व अन्य कई सुविधाओं में भी बृद्धि हुई है।

तीन वर्षीय समझौते के प्रमुख बिंदु-

टाटा मोटर्स लि.श्रमिक संघ के अध्यक्ष दिनेश आर्या द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार-

वेतन समझौता 3 वर्ष के लिये हुआ है, जो 1 अप्रैल 2019 से लागू होगा। एरियर का भुगतान 1 अप्रैल 2019 से होगा।

वेतन में बढ़ोत्तरी-

कुल बृद्धि 15600 रुपए मासिक की होगी, जिसमें 8000 रुपए फिक्स्ड राशि के रूप में होगी तथा वेरीयेबल में 6592 रुपए (3952 और 2600 रुपये सेफ्टी क्वालिटी) और 1000 रुपए की उपस्थिति आधारित स्किम के तहत मिलेगा।

फिक्स्ड वेतन बढ़ोतरी तीन ग्रेड में- ए ग्रेड- 8040 रुपए, बी ग्रेड- 8000 रुपए व सी ग्रेड-7880 रुपए होगी।

फिक्स्ड राशि से 50% (रुपये 4000) बेसिक सैलरी में जुड़ जाएंगे। इसके अतिरिक्त अभी तक मिलने वाले हेल्थ एलाउंस 900 रुपए और डोमिस्लरी एलाउंस के 500 रुपए की राशि को भी बेसिक सैलरी में जोड़ दिया जायेगा, इस प्रकार बेसिक सैलरी में 5400 की बढ़ोतरी।

समझौते के दौरान बढ़ी हुई राशि का 68% प्रथम वर्ष, 16% द्वितीय वर्ष 16% तृतीय वर्ष मिलेगा।

रविवार के दिन कार्य करने में मिलने वाली राशि 300 रुपये फिक्स कर दी गयी है।

अवकाश बढ़ाने पर सहमति

साल में 3 अवकाश में बृद्धि हुई है जिसमे 2 एसएल में और 1 पीएल में होगी। इसके आलावा माह में 2 ऑन ड्यूटी गेट पास (लघु अवकाश) मिलेगा।

इसके साथ मंदी आदि के लिए होने वाला ब्लाक क्लोजर (ले-ऑफ़ जैसी कार्यबंदी) 18 से बढाकर 24 पर सहमति बनी है।

केंटीन में श्रमिक के अंशदान में 10 रुपये की और 50 रुपये की बस सुविधा में बढ़ोत्तरी हुई है।

अपंगता की स्थिति व बीमा योजना

40 लाख रुपये का टर्म प्लान इंश्योरेंस सभी वर्कर्स के लिये होगा। कर्मचारियों को पूर्व में मिलने वाले ग्रुप इंसयोरेन्स, परिवार सुरक्षा योजना, लाइफ सेविंग स्कीम का लाभ पूर्व की भांति मिलता रहेगा।

किसी कर्मचारी की अपंगता व विकलांगता की स्थिति में पूर्व में मिलने वाले लाभों के साथ 32 लाख रुपए के टर्म प्लान का लाभ भी मिलेगा।

यदि कोई कर्मचारी दुर्घटना के कारण कारखाने में नही आ सकता हैं तो उस स्थिति में 100 सप्ताह तक टोटल बीमित राशि का 1% या 5000 रुपये जो कम होगा वो देय होगा।

1.5 लाख रुपये का मल्टीपरपज लोन दिया जाएगा जो  कार खरीदने, घर की मरम्मत, भाई बहन की शादी व अन्य आवश्यकताओं के लिये लिया जा सकता है।

स्थाई व अस्थाई श्रमिकों के लिए सहायता राशि

मृतक कर्मचारी आपसी सहयोग योजना में बदलाव पर सहमति बनी है। इसके तहत 600 रुपए स्थाई श्रमिक और एल 6 तक के कर्मचारी, एल 5 के कर्मचारी 1500 रुपए, एल 4 कर्मचारी 2000 रुपए, एल 3 से एल 2 के 2500 रुपए के अनुसार अपना सहयोग देंगे, जिसके अनुसार लगभग 14,31,000 रुपए की राशि मृतक के नामित उत्तराधिकारी को दी जाएंगी। ये राशि टाटा मोटर्स पन्तनगर के सभी स्थायी कर्मचारियों जिसमें वर्कर और प्रबंधन दोनों की सहायतार्थ रहेगी।

अस्थायी कर्मचारी की मृत्यु के लिये भी उसके परिवार के लिये एक सहयोग राशि जमा करके उसके परिवार को दी जाएगी। जिसमें 100 रुपए सभी अस्थायी कर्मचारी, 200 रुपये सभी स्थाई कर्मचारी, और प्रबंधन के वरिष्ठ अधिकारी 1000 रुपये का सहयोग करेंगे।

टाटा मोटर्स लि.श्रमिक संघ ने सभी श्रमिकों के सहयोग और यूनियन पर विश्वास के लिये सभी को धन्यवाद दिया है और भविष्य में भी यूनियन द्वारा श्रमिक हितों के लिये प्रयास करने और सभी श्रमिकों की उम्मीदों पर खरा उतरने का हर सम्भव प्रयास का वायदा किया है।

आज के कठिन दौर में हुए इस समझौते के लिए मज़दूर सहयोग केंद्र ने टाटा मोटर्स लि.श्रमिक संघ और टाटा के समस्त श्रमिकों को बधाई दी है।

%d bloggers like this: