सासाराम में ग्रामीण मज़दूर यूनियन का प्रदर्शन

मनरेगा और श्रम विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों की मज़दूर विरोधी कार्यशैली के खिलाफ आम सभा

सासाराम (बिहार)। ग्रामीण मजदूर यूनियन, बिहार ने सासाराम प्रखंड के मेदनीपुर में 20 अक्टूबर को मनरेगा और श्रम कार्यालय, डालमियानगर में व्याप्त घुसखोरी, कमीशनखोरी आदि के खिलाफ आम सभा किया। मनारेगा मजदूरों को काम देने, मजदूरी का भुगतान करने, नया जाब कार्ड बनाने और जाब कार्ड में हाजिरी दर्ज करने आदि की माँग की और माँगें ना पूरी होने पर बड़े प्रतिरोध सभा करने का ऐलान किया।

आओ देश के मज़दूर इतिहास को जानें– 9 – संघर्षों से रंगा इतिहास का स्वर्णिम पन्ना

सभा के माध्यम से वक्ताओं ने बताया कि मनरेगा में मजदूरों के बजाए कागज पर और मशीन से काम कराया जाता है। जो मज़दूर कुछ दिन काम भी करते हैं उनकी मज़दूरी का भुगतान बकाया है। जॉब कार्ड पर हाजिरी नहीं बनने के कारण मज़दूर भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड में आवेदन करने से वंचित हो जा रहे हैं। कार्ड का नवीनीकरण नहीं हो रहा है। नया जॉब कार्ड नहीं बनने से काफी संख्या में मज़दूर कई लाभ से वंचित हो जा रहे हैं।

वक्ताओं ने कहा कि श्रम कार्यालय के अधिकारियों की चिंता मज़दूरों का निबंधन कैसे हो के बजाए दलालों द्वारा लाये गए आवेदन को निबंधित करने पर अधिक रहने के कारण मज़दूर अपने हक से वंचित रह जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें– परिवहन कर्मियो के आह्वान पर तेलंगाना बंद सफल

वक्ताओं ने उपरोक्त सवालों के यथोचित समाधान नहीं होने कि स्थिति में संबंधित कार्यालय के समक्ष बहुत जल्द ही बड़ा विरोध सभा करने का ऐलान किया।

इसे भी देखें– मासा रैली, 3 मार्च 2019

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: