हरिद्वार : सिडकुल की आरो कंपनी में हादसे में दो श्रमिकों की मौत, तीन झुलसे

मुनाफे की अंधी हवस ने दो और मजदूरों की ली जान

हरिद्वार (उत्तराखंड)। सिडकुल स्थित सुएज ड्रिपलेक्स वाटर इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में ऑक्सीजन सिलेंडर फटने से दो कंपनी श्रमिकों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। इसमें तीन श्रमिक गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल श्रमिकों को सिडकुल स्थित मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी हालत गंभीर देखते हुए उन्हें हायर सेंटर रेफर कर दिया गया।

घटना मंगलवार शाम करीब चार बजे की है। हादसा उस वक्त हुआ जब बहादराबाद की औद्योगिक इकाई से पहुंचे वाहन से चालक-परिचालक सिलिंडरों को उतार रहे थे। विस्फोट इतना जबरदस्त था कि दीवारें भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई और शीशे चटक गए। मृतक श्रमिकों के चिथड़े तक उड़ गए।

प्लाट नंबर 144-145 सेक्टर IIDC सिडकुल में स्थित सुएज वाटर प्लांट में हादसे के बाद जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी, एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने घटनास्थल पर पहुंचकर घटनाक्रम की जानकारी ली। एसएसपी सेंथिल अबूदाई कृष्ण राज एस का कहना है कि सिलेंडर फटने से यह हादसा हुआ। मृतकों की शिनाख्त अबरार और नवेद के रूप में हुई है।

सिडकुल की सुयज ड्रीपलेक्स वॉटर इंजीनियरिंग प्राईवेट लिमिटेड कंपनी में बड़े आरओ प्लांट बनाए जाते है। मंगलवार की शाम बहादराबाद की एक औद्योगिक इकाई से 20 सिलिंडरों से भरा वाहन लेकर चालक परिचालक कंपनी में पहुंचे थे। हादसा कैसे हुआ, अभी इसकी सही जानकारी नही मिली है।

दरअसल मुनाफे की अंधी हवस से फक्ट्रियो में हादसे आज सामान्य बात हो गई है, जहाँ अंग-भंग होने से लेकर मौत तक सामान्य बात बन गई है। इन कारखानों में ना तो सुरक्षा मानकों के कोई इन्तेजाम होते हैं, ना ही मजदूर के जान की कोई कीमत। बस एक ही चीज है मजदूरों का खून निचोड़कर फेंक देना। यही है पूंजीवाद की विभीषिका।

1 thought on “हरिद्वार : सिडकुल की आरो कंपनी में हादसे में दो श्रमिकों की मौत, तीन झुलसे

Comments are closed.

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: