स्मृति ईरानी सहित 23 मंत्रियों ने दफ्तर सजाने पर खर्च किए 3.5 करोड़ रुपये

एय्याशी पर बहा रहे हैं जनता का पैसा, मुख्तार ने 7 हजार रूपये के खरीदे आफिस के कूड़ेदान

नई दिल्ली। एक तरफ तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद को देश का प्रधान सेवक कहते और बहुत ही साधारण पृष्ठभूमि से आने का जुमला छोड़ते हैं, वहीं, दूसरी तरफ मोदी कैबिनेट के मंत्रियों ने अपने दफ्तरों को पांच सितारा होटल की तरह बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। मुख्तार अब्बास नकवी और राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के साथ स्मृति ईरानी ने अपने व्यक्तिगत आराम के लिए जनता का लाखों रुपया अपने आॅफिस के सौंदरीकरण पर खर्च किया है।


इकोनॉमिक टाइम्स के द्वारा डाली गई आरटीआई के जवाब में ये खुलासा हुआ है, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के मानव संसाधन मंत्री रहते समय उनके मंत्रालय ने सिर्फ कार्यालय नवीकरण पर 1.16 करोड़ रुपये खर्च किए।
ऑफिस को सजाने के मामले में कोई भी पीछे नहीं है। इनमें केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, चैधरी वीरेंद्र सिंह, राज्यवर्द्धन राठौड़, उपेंद्र कुशवाह, जेपी नड्डा, सांवरलाल जाट और जितेंद्र सिंह आदि शामिल हैं।


जानकारी के अनुसार केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी जब मानव संसाधन विकास मंत्री थीं तब उनके अधिनस्थ मंत्रियों ने दफ्तर के लिए 1.16 करोड़ रूपए खर्च कर दिए थे। ईरानी के कार्यालय के लिए 70 लाख रूपए और दो राज्य मंत्रियों के कार्यालयों के लिए 40 लाख रूपए का खर्च आया था।


मुख्तार अब्बास नकवी ने सिर्फ ऑफिस के लिए कूड़ेदानों की खरीद पर 7,000 रूपये खर्च किये। सरकारी खजाने से ऑफिस को सजाने वाले मंत्री या तो राज्य स्तर के मंत्री हैं या फिर मोदी कैबिनेट में उनका रुतबा कुछ ज्यादा बड़ा नहीं है।

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: