बिजली विभाग की मनमानी, ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

‘बिजली उपभोक्ता संघर्ष समिति’ का ऐलान – माँगें नहीं मानें तो 13 सितंबर से उपखंड कार्यालय भादरा के सामने शुरू होगा अनशन

हनुमानगढ़ (राजस्थान)। हनुमानगढ़ जिले के भादरा के गोगामेडी सहायक अभियंता कार्यालय के सामने पिछले 6 दिनों से इलाके के ग्रामीण धरने पर बैठे हैं। ग्रामीणों ने बिजली बिलों का बहिष्कार कर रखा है। इसी क्रम में 9 सितंबर को ग्रामीणों ने गोगामेडी सहायक अभियंता कार्यालय के सामने एक प्रदर्शन किया।

ज्ञात हो कि लगातार अधिक अधिक राशि का बिल आने व बहुत ज्यादा प्रतिभूति राशि का अलग से नोटिस दिए जाने से नाराज ग्रामीण 4 सितंबर से ‘बिजली उपभोक्ता संघर्ष समिति’ के नाम से धरने पर बैठे हैं। 9 सितंबर को गोगामेडी सहायक अभियंता कार्यालय के सामने हुए एक प्रदर्शन में लगभग 25 गांव के 700 लोगों ने भाग लिया। लगातार धरने के बाद भी अभी तक माँगें नहीं मानने से ‘संघर्ष समिति’ ने 13 सितंबर से उपखंड कार्यालय भादरा के सामने धरने पर बैठने की घोषणा की।

बिजली उपभोक्ताओं के साथ बड़ी धांधली

जोधपुर डिस्कॉम राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के भादरा में सहायक अभियंता गोगामेडी द्वारा जारी किये गए बिलों में बड़ी धांधली की गई है। डिस्कॉम द्वारा उपभोक्तावों को लगातार बढ़ी हुई राशी के बिल दिए जा रहे हैं। बिलों के साथ एक अन्य नोटिस मिला है जिसमें उपभोक्ताओं को 1000 से 5000 रुपए की प्रतिभूति राशि जमा करवाने का आदेश है। इससे भादरा तहसील के लगभग 50 गांव के उपभोक्ता के ऊपर असर हुआ है। ‘संघर्ष समिति’ के सक्रिय कार्यकर्ता नेठारणा गांव के सुरेंद्र जी सोढ ने बताया कि डिस्कोम ने एक बीपीएल परिवार को 23,000 रुपये का बिल थमा दिया।

इलाके के ग्रामीणों बिजली उपभोक्ता संघर्ष समिति के नाम से ने 4 सितंबर को गोगामेडी सहायक अभियंता कार्यालय के सामने धरने पर बैठ गए और ग्रामीणों ने बिजली बिलों का बहिष्कार करने की घोषणा कर दी।

ग्रामीणों की माँग है कि- प्रतिभूति राशि के नोटिस को विभाग तुरंत निरस्त हो, स्थायी सेवा शुल्क के रूप में वसूली जा रही राशि को तत्काल बन्द किया जाए, प्रत्येक परिवार के लिए 200 यूनिट तक  बिजली मुफ्त दी जाए, बिजली बिलों में भारी अनियमितताओं को तुरंत प्रभाव से ठीक किया जाए, खराब और तेज गति से चलने वाले बिजली मीटरों को बदला जाए, ऐसे घटिया मीटर बनाने वाली कम्पनी के खिलाफ कार्यवाही की जाए।

सहायक अभियंता कार्यालय पर हुआ प्रदर्शन

9 सितंबर को ग्रामीणों ने गोगामेडी सहायक अभियंता कार्यालय के सामने एक प्रदर्शन किया, जिसमें रामगढ़, नेठारणा, खचवाना, भरवाना, ढिलकी, सरदार गढिया, मुंसरी, परलीका, बरवाली, गोगामेड़ी, करनपुरा, बीड़ भादरा, चिड़िया गांधी बड़ी, सरदारपुरा, चक चिड़िया गांधी, बास, घोटड़ा, गांधी बड़ी, 11 डीपीएम, 5 एनटीआर आबादी, तेलियों की ढाणी आदि गांवो के लगभग 700 लोगों ने भाग लिया।

इसे भी देखें- http://मनमाने बिजली बिल वसूली के खिलाफ धरना

सुरेन्द्र जी सोढ ने बताया कि प्रशासन जनता को यहाँ से वहाँ घुमाता रहता है लेकिन उनकी समस्याओं का कोई समाधान नहीं करता है। उन्होंने बताया कि इस आंदोलन में दिनों दिन अधिकाधिक लोग जुड़ते जा रहे हैं लेकिन शासन प्रशासन द्वारा अभी तक कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला है ।उन्होंने बताया कि यह आंदोलन तब तक चलता रहेगा जब तक उनकी माँगें मान नहीं ली जाती।

13 सितम्बर से अनशन की घोषणा

लगातार 6 दिन से धरने के बाद भी प्रशासन ग्रामीणों की माँगों पर ध्यान नही दे रहा है इसलिये अपनी मांगों को लेकर ‘बिजली उपभोक्ता संघर्ष समिति’ ने 13 सितंबर से उपखंड कार्यालय भादरा के सामने अनशन पर बैठने की घोषणा की है।

मेहनतकश प्रतिनिधि

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: