यूनियन का हक़ लेकर रहेंगे!

एडविक श्रमिकों का गेट पर धरना जारी

पंतनगर। एडविक श्रमिक राजू विश्वास की एक साल से गैरकानूनी गेटबन्दी और सहायक श्रमायुक्त की मध्यस्तता में दो बार हुए समझौते का अनुपालन न करने के खिलाफ विगत 35 दिनों से मज़दूर कंपनी गेट पर धरने पर बैठे हैं।

ज्ञात हो कि एडविक कंपनी में सवा साल पूर्व यूनियन बनने के बाद से प्रबन्धन ने यूनियन सदस्यों की वार्षिक वेतन बृद्धि रोक दी और श्रमिक उत्पीड़न बड़ाते हुए राजू विश्वास की ग़ैरकानूनी गेटबन्दी कर दी थी। तबसे मजदूरों का संघर्ष जारी है।

पिछले साल श्रम भवन पर चले धरने के वक़्त सहयक श्रमायुक्त ने त्रिपक्षीय समझौता कराया था और एएलसी व पुलिस चौकी इंचार्ज ने जूस पिलाकर आंदोलन समाप्त कराया था।

बाद में प्रबंधन समझौते से मुकर गया। पुनः दूसरे संघर्ष में एएलसी ने एक और समझौता कराया, लेकिन प्रबन्धन उससे भी मुकर गया। न तो राजू की कार्यबहाली हुई, न ही वेतन बढ़ा। ऐसे में मज़दूरों ने गेट पर धरना कार्यक्रम के साथ कंपनी में काला फीता बांध विरोध शुरू किया है। वे शिफ्ट ड्यिटी में बैठ रहे हैं।

बीते 8 जुलाई को जैसे ही धरना शुरू हुआ, चौकी इंचार्ज ने पुलिस फोर्स के साथ पहुँचकर मजदूरों को धमकाने व हटाने का प्रयास किया। मजदूरों ने उनके जूस पिलाने की फोटो दिखाकर सवाल पूछा तो कोई जवाब नही निकला। इसके बाद और फोर्स के साथ पुलिस क्षेत्राधिकारी पहुँच गये, लेकिन जूस वाला फोटो देख समझौते की बात करने लगे। मज़दूरों के दो टूक जवाब से उनका भी रौब काम नहीं आया।

फिलहाल मज़दूर एडविक कर्मचारी संगठन के बैनर तले गेट पर डटे हुए हैं। उधर एएलसी स्तर पर पुनः वार्ता शुरू हो गई है। जबकि प्रबन्धन ने मज़दूरों को डराना-धमकाना तेज कर दिया है। इसी के साथ सोमवार से सभी स्थाई श्रमिकों की जनरल शिफ्ट लगा दी है, ताकि कार्यरत श्रमिक धरने में शामिल न हो सकें।

मज़दूर इसका भी तोड़ निकाल रहे हैं। संघर्ष जीत तक ले जाने के लिए वे कृतसंकल्प हैं।

1 thought on “यूनियन का हक़ लेकर रहेंगे!

Leave a Reply

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: